अपना शहर

आयुध निर्माणी इस्टेट रायपुर में भी धूमधाम से छठ पूजा

देहरादून। भोजपुरी समाज आयुध निर्माणी की ओर से आयुध निर्माणी इस्टेट रायपुर में भी धूधाम से छठ पूजा का आयोजन किया गया। यहां निर्माणी इस्टेट स्थ्ति शिव मंदिर में अस्ताचलगामी सूर्यदेव को महिलाओं ने अघ्र्य दिया। व्रती सिर पर फलों का टोकर लेकर घर से नंगे पांव छठ पूजन स्थल पर पहुंचे। शाम पांच बजे के बाद अस्ताचलगामी सूर्यदेव को अघ्र्य देने का सिलसिला शुरू हो गया था। इस दौरान यहां पर सेवा और भक्ति भाव का विराट स्वरूप देखने को मिला।
शुक्रवार सुबह उगते सूर्य को अघ्र्य देने के साथ ही छठ व्रत का पारण होगा। दोपहर से ही घरों में व्रती महिलाएं गन्ने के रस, दूध, गुड़ व साठी चावल से बनी खीर और घी चुपड़ी रोटी तैयार करने में जुट गई थीं। शाम को व्रतियों ने खीर व रोटी के प्रसाद के साथ मौसमी फल छठी मैया को अर्पित किए और परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। फिर सभी ने प्रसाद ग्रहण किया। इसी के साथ परिवार की श्रेष्ठ महिलाओं के साथ अन्य महिला और पुरुषों ने निर्जला व्रत धारण किया। इस दौरान हम करेली छठ बरतिया से उनखे लागी, चार कोना के पोखरवा जैसे गीत गूंजते रहे। रातभर व्रती अघ्र्य की तैयारियों में जुटे रहे। भोजपुरी समाज के अध्यक्ष मदन ठाकुर ने बताया कि रायपुर इस्टेट में इस बार तो रिकार्ड लोगों ने छठी पूजन किया। उन्होंने बतााया कि इसकी तैयारी तीन चार दिन पहले से ही की जाती है। इस दौरान खरना में पहले छठी मैया की और फिर व्रत रखने वाली महिलाओं की पूजा होती है। खरना के बाद महिलाएं देर रात तक ठेकुआ का प्रसाद तैयार करने में जुटी रहीं। इसे मिट्टी के नए चूल्हे में आम की लकड़ियों पर पकाया जाता है। इस अवसर पर सुनील कुमार सुमन, अशोक कुमार, आकाश आदित्य समेत सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे।