अपना शहर

आशवासन की मार खाए छात्र-छात्राओं नें पुनः शुरू किया अनशन।

हल्दूचौड़।
लाल बहादुर शास्त्री महाविद्यालय में आज पुनः छात्र छात्राओं ने शासन प्रशासन के आश्वासन के झूटे व ढीले रवैय्ये पर मोर्चा खोलते हुए 12 अगस्त के सांकेतिक धरने के बाद आज पुनः छात्र छात्राओ नें अपनी नाराजगी जताते हुए अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू कर दिया,आज पीयूष जोशी,त्रिलोचन पाठक व किशन सिंह सुयाल तीन छात्रो ने अनिश्चितकालीन आमरण का ऐलान किया व प्रातः महाविद्यालय खुलते ही आमरण अनशन पर बैठ गए,गौरतलब है की अनशन पर बैठने की चेतावनी को महाविद्यालय प्रशासन समेत सभी लोगो ने बेहद रुखा रवैया अपनाया और आज महाविद्यालय में प्राचार्य समेत महाविद्यालय का पूरा स्टाफ अनुपस्थित रहा,छात्र नेताओ के हंगामे व नारेबाजी के बाद भी कोई मौके पर नही पंहुचा ,स्टाफ के अनुपस्थित रहने से प्रवेश लेने पहुचे छात्र छात्राओ को मायूस ही घर लौटना पड़ा ,सभी कर्मचारियों का कहना था की वो मेडिकल के लिए गए है पर सभी का एक साथ मेडिकल बनाने जाना सुर्ख़ियो में रहा।

गौरतलब है की छात्र छात्राए आमरण अनशन पर पूर्व में एक माह पूर्व भी बैठ चुके थे जिसपर क्षेत्रीय विधायक नवीन दुमका,उच्च शिक्षा निदेशक बी सी मेलकानी ,सहायक निदेशक अनुराग अग्रवाल,एसडीएम अब्ज प्रसाद वाजपेयी समेत तमाम जनप्रतिनिधियो व आलाअधिकारीयो ने छात्र छात्राओ को आश्वाशन देते हुए कहा था की नव सत्र में एम् ए की कक्षाओं का संचालन होगा व सभी कार्यवाही पूर्ण कर दी जाएँगी व अब छात्र छात्राओ को दिए आश्वासन पर आश्वस्त छात्र छात्राओ ने अनशन तोडा पर सरकारी आश्वासन व ढीली कार्यवाही के शिकार हुए छात्र छात्राओ को अभी तक केवल उम्मीद जगाई जा रही है की एम् ए की कक्षाएं शुरू हो जाएँगी ,मगर छात्र छात्राओ का कहना है की एम् ए की कक्षाएं शुरू होगी तो कब होगी क्योकि कुमाँऊ विश्विद्यालय की पी जी की प्रवेश की अंतिम तिथि खत्म हो चुकी है,और अभी तक न तो एम् ए की कक्षाएं शुरू हुई न ही कोई कार्यवाही हुई केवल प्रास्ताव निदेशालय से शासन को गया है।
अब आश्वासन के मारे छात्र छात्राओ को यह समझ नही आ रहा की वह महाविद्यालय में प्रवेश ले की नही. कुल मिलाकर आश्वासन और असमंजस के बीच छात्र छात्राओ को पिस्ता देख यह कहा जा सकता है की सरकार डबल इंजन की हो या ट्रिपल इंजन की आम आदमी को अपनी मांगे पूरी करवाने के लिए खुद ही संघर्ष करना पड़ेगा,अब देखना यह रहेगा की आश्वासन जमीं पर फलित होते है और एम् ए की कक्षाएं शुरू हो पायेगी की नही,कुल मिलाकर अब संघर्ष आम आदमी बनाम सरकारी आश्वासन हो गया है,अब जंग अंतिम दौर पर है और आंदोलित छात्र छात्राओ कहना है की प्राण भले ही चले जाये अब अपना अधिकार लेकर रहेंगे।
आज से अनिश्चितकालीन अनशन पर पियूष जोशी,त्रिलोचन पाठक,किशन सिंह सुयाल पर बैठ गए साथ ही आज धरना देने वालो में ग्राम प्रधान बी डी खोलिया,ललिता महरा,भावना दुमका,हिमांशु अधिकारी,प्राची कबडाल,नितीश धारियाल,निधि जोशी,पप्पू शर्मा,रोहित दुमका,दीपक रौतेला,मोहित जोशी,भास्कर चोपड़ा,कमल रौतेला, देवेश गंगवार,आरती सुनोरि,मनोज जोशी,अमित जोशी,चंद्र सिंह साल हेमंत पांडे,सुधांशु भट्ट,तारा सिंह बिष्ट,पवन दुमका, शुभम जोशी, आदि दर्जनों छात्र छात्राए मौजूद रहे।