अपना शहर

उत्तराखंड पी सी एस परीक्षा में सी- सेट को क्वालीफाई करने की उठी मांग

नैनीताल - उत्तराखंड पी सी एस परीक्षा में सी- सेट को संघ लोक सेवा आयोग एवं अन्य राज्यों के लोक सेवा आयोगों द्वारा करायी जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा की भांति क्वालीफाई करने की मांग प्रदेश के छात्रों एवं प्रतियोगिता परीक्षा की तयारी कर रहे अभ्यर्थियों द्वारा उठाई गयी है. इन अभ्यर्थियों का कहना है की पिछले कई वर्षों से संघ लोक सेवा आयोग एवं कई राज्यों के लोक सेवा आयोगों ( यथा – राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हिमांचल प्रदेश, मध्य प्रदेश आदि में) द्वारा सी-सेट को द्वितीय प्रशन पत्र लागू किया था. परन्तु वर्तमान में संघ लोक सेवा आयोग एवं अन्य राज्यों के लोक सेवा आयोगों द्वारा इसे क्वालीफाइंग घोषित एवं लागू कर दिया गया है. प्रारम्भिक परीक्षा की चयन सूची में सी-सेट के अंकों को जोड़ा गया था. सी-सेट परीक्षा में चूंकि सामान्य गणित , तर्क क्षमता से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं. उत्तराखंड राज्य में छात्रों के इस को हटाने की मांग वर्तमान में भी पूर्वरत है , जिस कारण इस राज्य के अभ्यर्थियों को परीक्षा में लाभ नहीं मिल पा रहा है. उत्तराखंड में अधिकतर अभ्यर्थियों की शैक्षिक पृष्ठभूमि कला एवं वारिन्ज्य शाखा से जुडी होती है और हिंदी भाषी होने के कारण इस तार्किक परीक्षा में सी-सेट के अंकों को जोड़ने पर अधिकाँश अभ्यर्थी परीक्षा में असफल हो जाते हैं. प्रतियोगी परीक्षाओं की तयारी कर रहे अभियार्थियों ने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को पत्र भेज कर मांग की है की संघ लोक सेवा आयोग एवं अन्य राज्यों के लोक सेवा आयोग की तर्ज पर उत्तराखंड में भी सी-सेट को क्वालीफाई कर दिया जाए जिससे पहाड़ी राज्यों के अभ्यर्थियों को भी इस प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर मौका मिल सके. ज्ञापन प्रेषित करने वालों में प्रेम सिंह, मोहन सिंह नेगी, दीपक कुमार, तारा सिंह, चन्दन सिंह, विक्रम अजित , आनंद प्रकाश सहित कई अभ्यर्थी शामिल हैं.