अपना शहर

उत्तराखंड में तीन माह में साइबर सिक्योरिटी ट्रेनिंग सेंटर

देहरादून : प्रदेश में साइबर सिक्योरिटी ट्रेनिंग के लिए राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन (एनटीआरओ) राज्य सरकार की मदद से एक सेंटर खोलने जा रहे हैं। रैबार कार्यक्रम के समापन सत्र में एनटीआरओ के प्रमुख आलोक जोशी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह सेंटर तीन माह के भीतर अस्तित्व में आ जाएगा। उन्होंने ड्रोन एप्लीकेशन के लिए देहरादून में सेंटर खोलने की बात भी कही। वहीं, कार्यक्रम में शिरकत कर रहे आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने पलायन पर अंकुश और पर्यटन को बढ़ावा देने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों में हुए सुविधाओं के विस्तार के मद्देनजर इन्हें सैलानियों के लिए खोला जाना चाहिए।

एनटीआरओ के प्रमुख जोशी ने कहा कि आज देश में पांच लाख साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञों की जरूरत है। उत्तराखंड में उपलब्ध संसाधनों में कुछ बदलाव के साथ साइबर सिक्योरिटी प्रशिक्षण के रूप में एक बड़े क्षेत्र में रोजगार सृजित किया जा सकता है। इस कड़ी में खोले जा रहे सेंटर में प्रथम चरण में 25 युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने राज्य में पलायन पर चिंता जताई और कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं में कमी इसकी प्रमुख वजह है। पर्यटन को बढ़ावा देने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इसमें अपनी संस्कृति को भी बचाकर रखना होगा। उन्होंने कहा कि कई ऐसे इलाके हैं, जो अभी तक पर्यटकों के लिए अनजान थे, उन्हें भी खोलने पर विचार किया जाना चाहिए। उन्होंने ट्रेकिंग और माउंटेन बाइकिंग जैसे क्षेत्रों में भी पर्यटन को बढ़ावा देने पर बल दिया।

सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष एवं प्रसिद्ध गीतकार प्रसून जोशी ने कहा कि पहाड़ में मातृशक्ति में संघर्ष की क्षमता है। उन्होंने सरकार के प्रयासों की सराहना की और कहा कि पर्यटन और पर्यावरण के मध्य संतुलन होना चाहिए। उन्होंने राज्य में मीडिया एवं क्रिएटिव आट्र्स का संस्थान खोलने और उत्तराखंड का ब्रांड विकसित करने पर भी जोर दिया। प्रधानमंत्री के सचिव भाष्कर खुल्बे ने कहा कि राज्य के विकास में महिलाएं बदलाव की वाहक होंगी। सबको राज्य के हितों के बारे में गंभीरता से सोचना होगा। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री के सचिव के विजन 2020 विकसित करने के सुझाव का स्वागत करते हुए कहा कि राज्य के अधिकारियों ने कई क्षेत्रों को चिह्नित कर लिया है और शीघ्र ही रोडमैप बनाया जाएगा।

समापन पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने मुख्यमंत्री ने रैबार के विजन डाक्यूमेंट का विमोचन भी किया। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों, संगठनों और अतिथियों को सम्मानित किया। इस मौके पर जागर गायिका बसंती बिष्ट ने मांगल गीत व जागर की प्रस्तुति दी।