अपना शहर

जिलाधिकारी दीपक रावत ने किया जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण

हरिद्वार- जिलाधिकारी दीपक रावत ने जिला चिकित्सालय में रेबिज का टीका बाहर से मंगाये जाने की शिकायत पर आज जिला चिकित्सालय पहुंच वहां उपस्थित सीएमएस आरती ढौडियाल तथा फार्मासिस्ट वीपी सिंह रावत से मामले की जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सालय औषधि भण्डार तथा स्टाॅक रजिस्टर की भी जांच की। चिकित्सालय अधिकारियों द्वारा डीएम के आदेशों का उल्लघंन तथा शिकायत सही पाये जाने पर सीएमएस का स्पष्टीकरण मांगा। कुत्ते के काट लेने के बाद बच्चे को जिला चिकित्सालय में टीका लगाने के लिए मातापिता को फार्मासिस्ट द्वारा टीका खत्म होने तथा दवा बाहर से खरीदकर लाये जाने की शिकायत डीएम से की गयी थी। इस पर आज उनके द्वारा जिला चिकित्सालय पहुंच घटना पर संज्ञान लिया गया। फार्मासिस्ट ने डीएम को बताया कि दवा खत्म होने के कारण दवा बाहर से लाने को कहा गया। जबकि डीएम ने जिला चिकित्सालय में एंटी रेबिज दवाओं का स्टाॅक खत्म होने से पहले इसकी सूचना जिलाधिकारी को दिये जाने तथा समय से दवा मंगाने के लिखित आदेश दिये गये हैं।चिकित्सालय द्वारा डीएम के इन आदेशों का पालन नहीं किये जाने और दवा खत्म होने के दो माह बाद भी जिलाधिकारी को सूचना न दिये जाने को अधिकारियों की लापरवाही बताया। स्टाॅक रजिस्टर में दो माह पहले दवा खत्म हो जाने तथा अभी तक दवा न मंगाने पर डीएम ने अधिकारियों को फटकार लागयी। उन्हाने मौके पर ही दवा मंगाने के लिए आदेश और स्वीकृति प्रदान की। जिलाधिकारी ने बाहर से खरीद कर लायी गयी दवा की रकम भी मरीज को वापस करवायी। जिलाधिकारी द्वारा चिकित्सालय सीएमएस का स्पष्टीकरण भी मांगा गया।