अपना शहर

झारखंड में जज बनी अल्मोड़ा की इला

हल्द्वानी। झारखंड पीसीएस (जे) परीक्षा क्वालीफाई कर कुमाऊं की बेटी ने प्रदेश का नाम रोशन किया है। मूलत: कुमाऊं के अल्मोड़ा जिले के कांडे (सतराली) गांव निवासी इला कांडपाल की इस उपलब्धि से पूरे गांव और जिले में खुशी है।
इला के पिता दिनेश मोहन मुरादाबाद में बिजली विभाग में कार्यरत थे जो हाल ही में सेवानिवृत्त हुए हैं। माता चंद्रा कांडपाल ग्रहणी हैं। परिवार मुरादाबाद में ही रहता है। मुरादाबाद के सेंट मेरी स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद इला ने दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबी और एलएलएम की परीक्षा उत्तीर्ण की। उन्होंने दो साल तर दिल्ली विश्वविद्यालय में असिस्टेंड प्रोफेसर के तौर पर काम किया। लेकिन पीसीएस (जे) क्वालीफाई करने की तमन्ना के कारण तैयारियां जारी रखी। दो साल बाद वह झारखंड पीसीएस (जे) परीक्षा दी और उत्तीर्ण हुईं। इला ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता, परिजनों और शिक्षकों के मार्गदर्शन को दिया है। इला ने दूसरी बार में यह परीक्षा उत्तीर्ण की। बता दें कि जिस दिन इला की पीसीएस (जे) की परीक्षा थी उसी दिन उनकी छोटी बहन की शादी थी वह भी अलग-अलग शहरों में। लेकिन इला ने अपने लक्ष्य को नहीं छोड़ा।