अपना शहर

नैनीताल में धूम धाम से मनाया जायेगा हरेला पर्व

नैनीताल 14 जुलाई 2017 -

उत्तराखण्ड के समस्त जनपदों में आगामी 16 जुलाई से 15 अगस्त तक हरेला पर्व मनाया जायेगा। जनपद में हरेला त्यौहार के दिन जनपद में 50 हजार विभिन्न प्रजातियों के पौधों का रोपण किया जायेगा। बैठक लेते हुये जिलाधिकारी दीपेन्द्र कुमार चौधरी ने कहा कि उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक श्रृंखला की परम्पराओं के अन्तर्गत हरियाली का अपना एक विशिष्ट महत्व है। उन्होंने कहा कि हरेला पर्व को बड़े उल्लास, आस्था एवं धार्मिक श्रद्धा से मनाया जाता है। हरेला पर्व प्रकृति के संरक्षण का संदेश भी देता है, हरेला रबी की फसल की बुआई, गुड़ाई एवं निराई के समय मनाया जाता है। यह त्यौहार सामाजिक, धार्मिक व आर्थिक एवं पर्यावरण की दृष्टि से विविध आयामों को अपने में समेटे है, इस दिन प्रत्येक परिवार किसी न किसी रूप में नये पौधों का रोपण, पेड़ पौधों का संरक्षण निश्चित रूप से करता है।
जिलाधिकारी श्री चौधरी ने उद्यान जैसे महत्वपूर्ण विभाग के अधिकारी के बैठक में उपस्थित ना होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुये उनके वेतन रोकने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि उद्यान अधिकारी सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में बिल्कुल रूचि नहीं ले रहे हैं इसलिये इनके स्थानान्तरण की भी संस्तुति की जायेगी।
बैठक में तय किया गया कि जनपद में हरेले के दिन 50 हजार पौधों का रोपण एवं हरेला माह में 1 लाख 50 हजार पौधों का रोपण किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि पौधा रोपण में अमरूद, आम, अनार, आॅवला, अखरोट,पदम रिंगाल, कचनार, एलवेरा, तेजपाल, बांज, उतीस, देवदार, शीशम, बकैन, अंगू, बहेड़ा, जामुन, तुन, सागौन आदि विभिन्न प्रजाति के पौधों का रोपण किया जायेगा। हरेला दिवस पर रूसी बाईपास, निहाल नाला, सूखाताल कैचमेंट एरिया, निशांत सैनिक स्कूल, बलिया नाले के दुर्गापुर क्षेत्र में पौधा रोपण किया जायेगा। इसी तरह भीमताल में वन पंचातय क्षेत्रेा स्कूलों, विकास भवन, सिंचाई विभाग के कैम्पसों आदि में पौधा रोपण किया जायेगा। हरेला माह में तहसील धारी, बेतालघाट, हल्द्वानी, रामनगर, कालाढूंगी, लालकुआॅ, में 5-5 हजार के साथ ही कृषि विभाग द्वारा 20 हजार, शिक्षा विभाग द्वारा 20 हजार, ग्राम्य विकास द्वारा 20 हजार, सिंचाई विभाग द्वारा मालधन क्षेत्र में शहतूत के 50 हजार, लोक निर्माण द्वारा 06 सड़कों के स्लोपएरिया वनीकरण में 5 हजार, पुलिस द्वारा 01 हजार तथा प्रत्येक निकाय द्वारा 2-2 हजार व वन पंचातयों में सघन पौधारोपण किया जायेगा। वन विभाग द्वारा 1440 हैक्टेयर में 12 लाख 50 हजार पौध लगाये जायेंगे। पौधे वन विभाग द्वारा निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेंगे। वन निगम द्वारा पौधों की सुरक्षा हेतु 100 ट्रीगार्ड उपलब्ध कराये जायेंगे। जिलाधिकारी ने और ट्रीगार्डो की व्यवस्था भी कराने को कहा। उन्होंने कहा कि पौध लगाने के साथ ही उनकी सुरक्षा अति महत्वपूर्ण है इसलिये सभी अधिकारी अपने क्षेत्र भ्रमण के दौरान लगाये गये पौधों का भी निरीक्षण करेंगे।
बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी धरम सिंह मीणा, मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र,अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक हरीश चन्द्र सती,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एचके जोशी, संयुक्त मजिस्ट्रेट वंदना, उप जिलाधिकारी पारितोष वर्मा, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 पीसी कान्डपाल, मुख्य कृषि अधिकारी धनपत कुमार, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण सीएस नेगी, सिंचाई मदन मोहन जोशी, उप निदेशक पर्यटन जेसी बेरी, व समस्त निकायों के अधिशासी अधिकारी के साथ ही डीडी रूबाली, हरीशंकर कंसल, सुदर्शन साह, ज्योति प्रकाश, मनोज साह, आदि मौजूद थे।