देश

पटना हाईकोर्ट ने ढाई घंटे में 300 मुकदमों का किया निष्पादन, रचा इतिहास

नई दिल्ली. मुकदमों के निष्पादन में पटना हाईकोर्ट ने इतिहास रच दिया है. साढ़े सात महीने के अंदर हाईकोर्ट में दाखिल किए गए 63,070 केस में से 62,061 मुकदमों का निष्पादन कर दिया गया.
पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन 15 मार्च 2017 को पटना हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यभार संभाला था. उसके बाद से वे शायद ही कभी भी अवकाश पर रहे होंगे. उनके काम का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके पटना हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यभार संभालने के बाद से 30 अक्टूबर 2017 तक हाईकोर्ट में पंजीकृत हुए 63,070 केस में से 62,061 मुकदमे का निष्पादन कर दिया गया

पटना हाईकोर्ट ने 30 अक्टूबर 2017 तक हाईकोर्ट में पंजीकृत हुए 63,070 केस में से 62,061 मुकदमे का निष्पादन कर दिया गया. हाईकोर्ट में आज रिकार्ड 1489 मुकदमे निपटा दिये गये.

न्यायाधीश रविरंजन की एकल पीठ में आज 300 जमानत संबंधी केस सूचीबद्ध किए गए. इसमें से 289 केस को अंतिम रूप से निपटा दिया गया. सिर्फ 11 केस वकील के नहीं रहने के कारण निष्पादित नहीं हो पाए. सबसे बड़ी बात यह रही कि सारे मामलों का निष्पादन महज ढाई घंटे में हो गया. उसके बाद उनकी केस सूची खाली पड़ गयी.