अपना शहर

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में उत्तराखंड अव्वल

देहरादून -:प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के स्टेट कंपोनेंट के तहत योजना का क्रियान्वयन करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन गया है। इस योजना के अंतर्गत देश का पहला प्रशिक्षण केंद्र देहरादून में 60 युवाओं के प्रशिक्षण से प्रारंभ किया जा चुका है। प्रोटेक्नोलॉजीस के कंपयूटर अकादमी केंद्र में चल रहे इस प्रशिक्षण केंद्र में फील्ड टेक्नीशियन, कंप्यूटर एंड पेरिफेरल के क्षेत्र में प्रशिक्षित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का फोकस युवाओं के कौशल विकास पर है। इस कड़ी में सरकार और उत्तराखंड कौशल विकास मिशन तन्मयता से जुटे हैं। प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ.पंकज कुमार पांडेय के अनुसार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत देश का पहला प्रशिक्षण बैच शुरु करने में तकनीकी दिक्कतें भी आईं, लेकिन इन्हें विभिन्न संस्थानों के समन्वय से दूर कर लिया गया। आने वाले दिनों में और भी प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएंगे। योजना में 2020 तक 40 हजार युवाओं को निश्शुल्क रोजगारपरक प्रशिक्षण प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने बताया कि इस योजना से पहले ही उत्तराखंड कौशल विकास मिशन के जरिए 12000 से अधिक युवाओं को 32 विभिन्न सेक्टरों में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। मिशन की ओर से 'कुशल उत्तराखंड एप' विकसित किया गया है। इसके जरिए लोग अपनी जरूरत के हिसाब से कुशल युवा प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन आदि से संपर्क कर सकते हैं।

उन्होंने जानकारी दी कि नारी निकेतन व जिला कारागार देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंहनगर और नैनीताल में भी बंदियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किए गए। यही नहीं, राज्य के सरकारी आइटीआइ में भी अल्पकालीन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस वर्ष सीसीटीवी कैमरा रिपेयर इंस्टालेशन के बैच आईटीआई हरिद्वार में प्रारंभ किए जाएंगे।

प्रोजेक्ट डायरेक्टर के मुताबिक प्रशिक्षण में विविधता व गुणवत्ता के मद्देनजर 23 सेक्टर स्किल काउंसिल के साथ अनुबंध किए गए हैं। भविष्य में बाजार की मांग के अनुरूप युवाओं के कौशल विकास के लिए कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने यह भी बताया कि कौशल विकास मिशन को जून 2017 में पेरिस में हुई ग्लोबल स्किल मीट में सम्मानित किया जा चुका है।