अपना शहर

बच्चों को एक-एक कर फांसी पर लटका दूंगा

हल्द्वानी : राजकीय प्राथमिक विद्यालय प्रेमपुर लोश्ज्ञानी में पड़ोस में रहने वाले नशेड़ी दबंग ने जमकर उत्पात मचाया। रस्सी लेकर स्कूल में घुसा दबंग शिक्षकों और बच्चों को फांसी पर लटकाने की धमकी देने लगा। बेखौफ नशेड़ी के गालीगलौज कर धमकियां देने से बच्चों व शिक्षकों में दहशत फैल गई। कई बच्चों ने रोना शुरू कर दिया। पुलिस के पहुंचने तक आरोपी फरार हो गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य की ओर से घटना की लिखित तहरीर मुखानी थाने में दी गई है।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय प्रेमपुर लोश्ज्ञानी में कक्षा एक से पांच तक कुल 151 छात्राएं पढ़ती हैं। दोपहर करीब एक बजे स्कूल में इंटरवेल हुआ। कुछ बच्चे खाना खा रहे थे तो कुछ खेल में मस्त थे। भोजन माताएं बच्चों को खाना परोसने में व्यस्त थीं। वहीं स्कूल के प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह चौहान समेत शिक्षिका हेमा खेतवाल और राधा नेगी स्टाफ रूम में रूटीन के कामकाज निपटा रहे थे। इसी दौरान पड़ोस में रहने वाला मनोज पुत्र देवीदयाल नशे में धुत होकर स्कूल के स्टाफ रूम में पहुंचा। शिक्षकों का आरोप है कि उसके कंधे पर रस्सी थी और वह बार-बार बच्चों को एक-एक कर फांसी पर लटकाने की धमकी दे रहा था। कुछ देर तक स्टाफ रूम में हंगामा काटने के बाद मनोज मैदान में आकर बच्चों के सामने गालीगलौज कर अभद्रता करने लगा। इससे सहमे बच्चे रोने लगे। करीब आधा घंटा तांडव मचाने के बाद मनोज धमकियां देते हुए फरार हो गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि उन्होंने मुखानी थानाध्यक्ष को फोन कर मदद मांगी। पुलिस के दो जवान स्कूल पहुंचे, लेकिन तब तक वह फरार हो चुका था। पुलिस घर भी गई, लेकिन वह नहीं मिला। प्रधानाचार्य ने आरोपी मनोज के विरुद्ध लिखित तहरीर मुखानी थाने में देकर कार्रवाई की मांग की है।

नशेड़ी के आतंक से भड़का शिक्षक संघ

राजकीय प्राथमिक विद्यालय प्रेमपुर लोश्ज्ञानी में नशेड़ी के उत्पात और बच्चों व शिक्षकों से अभद्रता पर प्राथमिक शिक्षक संघ गुस्से में है। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष डिकर सिंह पडियार ने घटना की निंदा कर पुलिस से सख्त कार्रवाई की मांग की है। साथ ही स्कूलों में नशेड़ियों का आतंक नहीं थमने पर वृहद रूप से आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी है।

पहले भी की थी स्कूल में तोड़फोड़

प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि मनोज पहले भी शराब पीकर स्कूल में तांडव मचा चुका है। करीब डेढ़ साल पहले भी नशे में धुत होकर स्कूल में घुसा था और एक कमरे में लगे दो पंखे तोड़ डाले थे। तब ग्राम प्रधान ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी, लेकिन लिखित शिकायत न होने के कारण कार्रवाई नहीं हुई।

नशेड़ी मनोज के स्कूल में घुसकर शिक्षक से अभद्रता की शिकायत मिलने पर पुलिस टीम भेजी गई। नशेड़ी के घर में दबिश दी गई, लेकिन वह नहीं मिला। मनोज की पहले भी झगड़े की शिकायतें हैं। जल्द उसे दबोचकर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।