अपना शहर

रानीबाग़ के जाम ने ली एक व्यक्ति की जान – तंत्र मौन और असंवेदनशील

हल्द्वानी : रानीबाग़ के पास गुलाबघाटी में लगने वाले जाम ने रविवार को एक मरीज की जान ले ली। रानीबाग से लेकर भीमताल तक करीब 20 किमी के दायरे में दो जगह डंपर व ट्रक खराब होने से वाहनों की कतार लग गई। इससे ढाई घंटे तक वाहनों के चक्के थम गए। इसी बीच सांस रोग से पीड़ित व्यक्ति की हालत बिगड़ने लगी। समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण अस्पताल पहुंचते ही मरीज की मौत हो गई।
मुक्तेश्वर के ग्राम गहना निवासी तारा दत्त जोशी (52) कुछ समय से सांस रोग से पीड़ित थे। रविवार सुबह तबियत ज्यादा बिगड़ने लगी तो उनके भाई किशन चंद्र जोशी, दामाद विनोद शर्मा व पुत्र भाष्कर एक स्थानीय टैक्सी बुक कराकर उन्हें हल्द्वानी ले आए। दोपहर करीब 12 बजे भीमताल पहुंचते ही वाहन जाम के चलते रेंगकर आ रहे थे। दोनों ओर से वाहनों का दबाव बढ़ते ही धीरे-धीरे वाहनों के चक्के भी थमने लगे। बीमार होने की बात बताकर चालक ने किसी तरह वाहन आगे भी निकलवाया, लेकिन एचएमटी कालोनी अमृतपुर के पास करीब 3:30 बजे उनका वाहन आगे निकल ही न सका। भाई किशन चंद्र व दामाद विनोद एक तरफ तारा दत्त को संभाल रहे थे तो दूसरी ओर आपातकालीन सेवा 100 तथा 108 पर फोन लगा रहे थे। 108 एंबुलेंस सेवा की ओर से जाम के चलते मौके तक पहुंचने में असमर्थता जता दी गई तो पुलिस के 100 नंबर से जाम खुलवाने का आश्वासन ही मिलता रहा। इधर, जाम थोड़ा हटने के बाद करीब छह बजे बेस अस्पताल के बाहर उनका वाहन पहुंच गया। जैसे ही तारा दत्त को स्ट्रेचर पर रखकर अस्पताल ले जाया गया, डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।