राज्य

संघ नेता बलराज कटारिया का देहांत, शोकसभा कल

मोहाली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के नेता श्री बलराज कटारिया (78) का 3 नवंबर को देहांत हो गया. 4 नवंबर शनिवार को जलालाबाद रोड स्थित शिवधाम में उनका अन्तिम संस्कार किया गया.

अन्तिम शोक सभा 8 नवंबर(बुधवार) को चहल पैलेस, मुक्तसर रोड, श्री मुक्तसर साहिब में होगी. श्री बलराज कटारिया, पत्रकार राजेश कटारिया, विजय कटारिया और बिल्लू कटारिया के पिता थे और आर्यन्स ग्रुप ऑफ कॉलेजिस, राजपुरा, नजदीक चण्डीगढ के संस्थापक, प्रोफैसर रौशन लाल कटारिया व पूर्व भाजपा अध्यक्ष श्री रविन्द्र कटारिया के बडे भाई थे व आर्यन्स ग्रुप के चेयरमैन, डॉ अंशु कटारिया और चंचल कटारीया (स्टेट अैवारडी) के ताया जी थे.

मुक्तसर में 1 अप्रैल 1940 को जन्में बलराज कटारिया शुरूआत से ही जनता पार्टी, जन संघ, आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी से जुडे रहे थे. 1977 में वह जनता पार्टी, मुक्तसर के प्रेजिडेंट बने. वह व्यापार मण्डल, मुक्तसर के प्रधान व व्यापार मण्डल पंजाब के उप प्रधान भी रह चुके है. वह मुक्तसर में स्वदेशी जागरण मंच के संरक्षक भी रह चुके है. वह एमरजेंसी के दौरान जेल में भी रहे है.

उनकी मृत्यु पर विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक पार्टियों ने शोक व्यक्त किया है. यह उल्लेखनीय है कि श्री बलराज कटारीया को 20 वर्ष पहले अधरंग का दौरा पडा था इसके बावजूद उनके तीनों बेटों और बहूओं की निरंतर देखभाल के साथ उन्होंने अपना जीवन सक्रिय रूप से बिताया.