देश

सोशल मीडिया की अफवाह ने फैलाया भ्रम, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की उड़ी अफवाह

नई दिल्ली- कल देर शाम अचानक सोशल मीडिया में किसी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में यह अफवाह उड़ा दिया कि उनका देहांत हो गया है, जिसके बाद यह खबर जंगल में फैली आग की तरह वायरल हो गई. अटल बिहारी की मौत की खबर को लोगों ने बिना किसी पड़ताल के सच मान लिया और नतीजा यह हुआ कि लोगों ने उन्हें वाट्सएप, ट्विटर और फेसबुक पर श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया. 

आपकों बता दें कि अटल जी की मौत के बारे में यह अफवाह पहली बार नहीं उड़ी है, बल्कि इससे पहले भी ऐसा हो चुका है. 2015 में भी एक बार इसी तरह की अफवाह उडाई गई थी, जिसके बाद उड़ीसा के बालासोर जिले में एक प्राइमरी स्कूल के प्रिंसिपल ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रृद्धांजलि दे दिया था. हालंकि इस गलती के लिए बाद में प्रिंसिपल ने माफी भी मांगी थी, लेकिन कलेक्टर ने उन्हें निलंबित कर दिया था.

ऐसा ही के मामला 24 दिसंबर 2016 को मप्र में देखने मिला था जहाँ एक गर्ल्स कॅालेज खंडवा (म.प्र) में उनका जन्मदिन मनाया गया था. उस कार्यक्रम में अटल बिहारी वाजपेयी के जिंदा रहते हुए श्रद्धांजलि दे दी गई. कॉलेज में हुए कार्यक्रम में प्राचार्य पुष्पलता केसरी व अन्य प्राध्यापकों ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर फूल चढ़ाए थे और अगरबत्ती भी लगाईं गई थी.