अवर्गिकृत

स्टार्ट अप इंडिया- स्वरोजगार को प्रेरित करती एक मुहीम

स्टार्ट अप इंडिया- स्वरोजगार को प्रेरित करती एक मुहीम
देश में स्वरोजगार की अलख जलाने हेतु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट ”स्टार्ट अप इंडि़या“ कैंपेन को लांच कर दिया। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता स्टार्ट अप को सबल प्रदान करने की है और वे इस कैंपेन को प्राथमिकता देंगे। उन्होंने कहा कि लोगों के पास नित नए आइडिया होते हैं, वे चाहें तो कमाल कर सकते हैं।
इस नये कैंपेन के माध्यम से छोटे व्यवसायों और देश-विदेश में क्रियाशील युवा उद्यमिता को प्रोत्साहित व देश में ही काम करने की दृष्टि से अहम पहल है। इस महत्वाकांक्षी योजना में तीन साल तक आयकर एवं निरीक्षण में छूट प्रदान की गई है। त्वरित मंजूरी और उद्योग शुरू करने के लिए जरुरी कानूनी दस्तावेजों के स्वप्रमाणन के अलावा चार साल के लिए 10 हजार करोड़ के कोष की भी स्थापना की है। मसलन हर साल ढाई हजार करोड़ रुपये स्टार्ट अप योजना में भागीदारी करने वाले युवाओं को दिये जायेंगे। नवाचारियों के आविष्कारों को पेटेंट की सुविधा का सरलीकरण किया गया है। नवाचारियों के द्वारा उत्पादित सामग्री को सरकारी खरीद में भी प्राथमिकता दी जायेगी। निविदा आमंत्रित करते वक्त वार्षिक टर्न ओवर दिखाने और अनुभव जैसी जरुरतों की अनिवार्यता खत्म कर दी जायेगी।