अवर्गिकृत

स्टाॅक मार्केट

स्टाॅक मार्केट
अजय कुमार, नैनीताल -
निवेशनामा
निवेश करने से पहले निवेश से जुड़ी शब्दावली जानना आवश्यक है। आज हम शेयर बाजार से जुड़ी कुछ आवश्यक शब्दावली पर चर्चा करेंगे, और कैसे इस जानकारी का प्रयोग निवेश के लिये एक बेहतर शेयर का चयन कर सकते हंै।
फेस वैल्यू (Face value)- यह किसी शेयर का वो मूल्य है, जो किसी जारी करने वाली कम्पनी उस शेयर को देती है जो प्रथम बार बाजार में सूचीब( होने के लिये आया होता है। यह शेयर का मूल भाव होता है। मूल्य शेयर के शपथ पत्र (Share certificate)  पर भी अंकित होता है। आज के समय में 1,2,5 व 10 रूपये की फेस वैल्यू के शेयर बाजार में प्रचलन में हैं।
बुक वैल्यू (Book Value)- किसी कम्पनी के सभी प्रकार के दायित्वों को शेयर भाव में से घटाने के बाद जो भाव कम्पनी पुस्तिका में लिखा जाता है, वह भाव किसी शेयर की बुक वैल्यू कहलाती है। बुक वैल्यू व बाजार में चल रहे भाव के अनुपात का आकलन करने से किसी कम्पनी के शेयर को कब लेना चाहिए इस बात का आकलन किया जा सकता है।
ई0पी0एस0 (E.P.S.)- ई0पी0एस0 या अर्नीग पर शेयर (Earning per share)  का अर्थ है आय में से कर के भुुगतान के बाद जो मुनाफा बचता है वह प्रति शेयर में विभाजन करने के बाद जो संख्या का अनुपात प्राप्त होता है, वह उस शेयर का ई0पी0एस0 कहलाता है।
मान लें यदि किसी कम्पनी का ई0पी0एस 6 रूपये है, अब यदि शेयर की फेस वैल्यू 10 रूपये की हो तो , अब यदि कम्पनी 20% का लाभांश देती है तो 10रू0 पर वह 2 रूपये होगा पर क्योंकि कम्पनी 10 रू0 के अन्दर 6 रू0 का लाभ कमा रही है 6-2 (EPS-Dividend)= 4रू0 अब बाकी के 4रू0 कम्पनी के रिजर्व या प्लाउबैक में जमा हो जाता है। यह पैसा कम्पनी अपनी विस्तार और विकास के लिए प्रयोग में ला सकती है या वह चाहे तो बोनस शेयर के माध्यम से निवेश को दे भी सकती है। या एक वर्ष में दो या उससे अधिक बार लाभांश के रूप में भी निवेशकों को दे सकती है।
पी0ई रेशियो (CP/E Rate)-  पी0ई0 रेशियो का अर्थ है शेयर की कीमत व उसे प्राप्त होना पी0ई0 5 है तो इसका अर्थ है कि उस शेयर का दाम उससे प्राप्त होने वाली आय से 5 गुना है। निवेश के लिये वह पी0ई0 वाला शेयर चुना जाता है जिसका यह अनुपात कम से कम हो, ताकि भविष्य में उससे प्राप्त होने वाला लाभ अधिक हो।